धर्मयुद्ध

धर्मयुद्ध....

 

जय कुलदेवी

~ मेरी भक्ति, कुलदेवी की शक्ति
-:: मासिक समाचार पत्र ::-


  • " भ्रष्टाचार इस कदर फ़ैल चुका है कि इससे देश की एकता पर खतरा पैदा हो गया है। क्या न्यायपालिका को चुप रहना चाहिए ?
    हे भगवान, सहायता करो और शक्ति दो। यदि न्यायपालिका चुप रही या असहाय हुई तो देश से लोकतंत्र खत्म हो जाएगा। सरकार ने भ्रष्टाचार को रोकने के लिए कदम नहीं उठाए तो देश की जनता कानून अपने हाथ में ले लेगी और भ्रष्टाचारियों को सड़कों पर दौड़ा कर पीटेगी।"
  • भ्रष्टाचार , अन्याय, मानसिक प्रताड़ना के खिलाफ धर्मयुद्ध
    अतिप्रिय देश वासियों,
    यदि आपके साथ किसी भी प्रकार का अन्याय, भेदभाव ,प्रताड़ना की जा रही हो अथवा आपके पास अवैध वसूली , रिश्वत खोरी, फर्जीवाड़ा, भ्रष्टाचार से सम्बंधित कोई खबर, दस्तावेज अथवा फोटो हो तो ईमेल व्हाट्सएप्प करें या हमारे कार्यालय के पते पर भेजें ।
    हमारा मासिक समाचार पत्र 'जय कुलदेवी' भ्रष्टाचार, अन्याय, मानसिक प्रताड़ना के खिलाफ धर्मयुद्ध में आपका सारथी बनेगा ।
  • 'जय कुलदेवी' मासिक पत्रिका समाज का आइना है। शहर की चकाचौंध से लेकर गाँवों कस्बों की बाते हम 'जय कुलदेवी' मासिक पत्रिका के माध्यम से हम करते हैं। इसी परिप्रेक्ष में हम आमंत्रित करते हैं, उन नवजवान युवक / युवतियों को जो लेखन एवं विज्ञापन के क्षेत्र से जुडना चाहते हैं ।








इस समाचार पत्र का उदेश्य अंधश्रद्धा या पाखंड फैलाना कतई नहीं है, और न हीं किसी के भावना को ठेस पहुँचाना है बल्कि ज्ञान को विस्तृत करना है इसलिए पाठक गण कृपया अपने विवेक से काम लें ।
स्वामी प्रकाशक मुद्रक जय कुल देवी सेवा समिति रतलाम द्वारा आशीर्वाद ऑफसेट ,05 नाहर पुरा ,रतलाम (म.प्र.) से मुद्रित एवं 40,लक्ष्मी नगर,रत्नेश्वर रोड,रतलाम (म.प्र.) से प्रकाशित | संपादक विजय सिंह यादव मोबाईल 9827007283