ॐ कुल देवताभ्यो नमः

थे ही माँ बाप हो, और थे ही जीवन कि डोर,
थारे आगे कुल रा देवता नहीं चले किसी का जोर
सभी सहारे टूट गये और दुश्मन बने जहान ,
तेरी आशा लगी मुझे मेरे कुल देवत भगवान ,
नजर अगर मेहरबान भी एक बार हो जाये ,
उजड़ा हुआ गुलशन गुले गुलजार हो जाये ।